11 Amazing Benefits Of Butter Milk In Ayurveda

छाछ या मठ्ठा (Butter Milk) शरीर से विजातीय तत्वों को बहार निकाल कर नव-जीवन प्रदान करता है | शरीर में रोग प्रतिरोधक शक्ति उत्पन्न करता है | छाछ पीने से जो रोग नष्ट होते हैं वे जीवन भर पुन: नहीं होते | छाछ खट्टी नहीं होनी चाहिए | पेट के रोगों में छाछ कई बार पीयें | गर्मी में छाछ पीने से शरीर में ताजगी एंव तरावट आती है | नित्य नाश्ते एंव भोजन के बाद छाछ पीने से शरीरिक सकती बढ़ती है एंव बनी रहती है | बाल असमय में सफेद नहीं होते |
भोजन के अंत में छाछ, रात्रि के अंत में मध्य दूध और रात्रि के अंत में पानी पीने से स्वास्थ्य अच्छा रहता है |

बवासीर : एक गिलास छाछ (Butter Milk) में नमक और एक चम्मच पिसी हुई अजवाइन मिलाकर पीने से बवासीर में लाभ होता है | छाछ के उपयोग से नष्ट हुए बवासीर पुन : उत्पन्न नहीं होते | सौंधा नमक ज्यादा लाभ करता है | छाछ में सिका हुआ जीरा मिलाकर पीना भी लाभदायक है |

अजीर्ण, घी, तेल और मूँगफली का : घी, तेल, और मूँगफली अधिक खाने से अजीर्ण होने पर, छाछ पीने से लाभ होता है |

कृमि : गाय की छाछ (Butter Milk of Cow Milk) में नमक मिलाकर प्रांत : पीने से कृमि मर जाते हैं |

शक्तिवर्धक : छाछ पीने से स्रोतों , मार्गों की शुद्धि होकर रस का भली-भांति संचार होने लगता है | आँतों से सम्बन्दित कोई रोग नहीं होता | पिसी हुई अजवाइन, सौंधा नमक, छाछ तीनों मिलाकर भोजन के अन्त में नित्य कुछ दिन पीने से बहुत लाभ होता है, यह अच्छी न लगे तो छाछ में काली मिर्च और नमक मिलाकर भी पी सकते हैं |

दस्त: आधा पाँव छाछ में एक चमच्च शहद मिलाकर 3 बार नित्य पीने से दस्त बंद हो जाते हैं |

भाँग का नशा खट्टी छाछ पीने से उत्तर जाता है |

दाँत निकलना : छोटे बच्चों को नित्य छाछ पिलाने से दाँत निकलने में कष्ट नहीं होता और दाँतों का रोग भी नहीं होता |

मोटापा छाछ पीने से कम होता है |

पेट दर्द : भूखे होने पर हो तो छाछ पीने से यह दर्द ठीक हो जाता है |

अपच : अपच के लिए छाछ एक औषधि है | ताली भुनी, गरिष्ठ चीजों को पचाने में छाछ लाभदायक है | छाछ आँतों में स्वास्थ्यवर्धक कीटाणुओं की वृद्धि करती है, आँतों में सड़ाँध रोकती है | छाछ (Butter Milk) में सौंधा नमक, भुना हुआ जीरा, काली मिर्च पीसकर पिलायें, अजीर्ण शीघ्र ठीक होता है |

छाछ से कब्ज़, दस्त, पेचिश खुजली चौथे दिन आने वाला मलेरिया बुखार, तिल्ली, जलोदर, रक्तचाप (ब्लडप्रेशर की कमी या अधिकता), दमा, गठीया, अधर्गाबात, गर्भाश्य के रोग, मलेरिया जनित यकृत के रोग, मूत्राशय की पथरी में लाभ होता है |

1 thought on “11 Amazing Benefits Of Butter Milk In Ayurveda

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *