Health Benefits of Pineapple (अनन्नास)

Health Benefits of Pineapple (अनन्नास)

लेटिन नाम – अनन्नास कोमोसस (Ananas comosus)

Pineapple : अनन्नास कृमिनाशक है | अनन्नास के रस में प्रोटीनयुक्त पदार्थों को पचाने की क्षमता है | इसमें से पोप्सीन से मिलता जुलता एक ‘ब्रोमोलिन’ नामक तत्व निकाला गया है | अनन्नास का स्वादिष्ट पेय बनाने हेतु अनन्नास व् सेव का मिश्रित रस बना कर एक चम्मच शहद, चौथाई चम्मच अदरक का रस मिला कर पीयें | इससे आँतों में से म्यूकस (अम्लता) बाहर आ जाती है | उच्च-रक्त चाप, दमा, खाँसी, अजीर्ण, मासिक धर्म की अनियमितता दूर हो जाती है |

टान्सिल, गले में सुजन होने पर अनन्नास खाने पर लाभ होता है |

रोहिणी (Diphtheria) : अनन्नास (Pineapple) का रोहिणी की झिल्ली को काट देता है, गले को साफ़ रखता है | यह इसकी प्रमुख औषधि है | ताजे अनन्नास में ‘पेप्सीन’ (पित्त का एक प्रधान अंश)  होता है | इससे गले की खराश में लाभ होता है |

फुंसियाँ : अनन्नास का गुदा फुन्सियों पर लगाने से लाभ होता है | इसका रस पीने से शरीर के अस्वस्थ तन्तु ठीक हो जाते हैं |

अजीर्ण : अनन्नास (Pineapple) की फाँक पर नमक और काली मिर्च डाल कर खाने से अजीर्ण दूर हो जाता है |

शक्तिदायक : अनन्नास घवराहट को दूर करता है | प्यास कम करता है, शरीर को पुष्ट करता है और तरावट देता है | कफ को बढाता है, परन्तु खाँसी-जुकाम नहीं करता | दिल और दिमाग को बहुत ताकत देता है | खाली पेट अनन्नास खाने से पाचन-शक्ति बढती है | गर्मियों में अनन्नास कर शर्बत पीने से तरी, ताजगी, ठंडक मितली है, प्यास बुझती है | पेट की गर्मी शांत होती है, पेशाब खुलकर आता है | पथरी न इसलिए लाभकारी है |

सुजन : शरीर की सुजन के साथ पेशाब कम आता हो, एल्ब्यूमिन मूत्र में जाता हो, यकृत बढ़ जाता हो, मन्दाग्नि हो, नेत्रों के आसपास और चेहरे पर विशेष रूप से सुजन हो तो नित्य पकी हुई अनन्नास (Pineapple) खायें और केवल दूध पर रहें | तीन सप्ताह में लाभ हो जायेगा |

,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *