Eggplant Health Benefits In Hindi

लेटिन नाम – सोलेनम मोलोजिना (Solanum melongena)

प्रकृति : गर्म और खुश्क

गैस : पेट में गैस बनती हो, पानी पीने के बाद पेट इस प्रकार फूलता है, जैसे फ़ुटबाल में हवा भर जाती है तो ताज़ा लम्बे बैंगन (Eggplant) की सब्जी जब का तक मौसम में बैंगन रहें खाते रहें | इससे गैस की बीमारी दूर हो जाएगी | इससे यकृत और तिल्ली बढ़ी हुई हो तो उसमें भी आराम होता है |

हाथ पैरों में पसीना : बैंगन (Eggplant) का रस निकाल कर हथेलियों और पगतलियों पर लगाने से पसीना निकलना बंद हो जाता है |

बाला (नारू) : बैंगन को सेक (बुडता) कर दही में पीसकर दस दिन जहाँ बाला निकल रहा हो, लगायें |

हृदय : यह ह्रदय को शक्ति देता है |

बवासीर : बैंगन (Eggplant) का वह हिस्सा जिससे बैंगन जुड़ा रहता है | को पीसकर बवासीर पर लेप करने से दर्द और जलन में आराम मिलता है | बैंगन का दांड और छिलके सूखा लें और फिर इसको कूट लें | जलते हुए कोयलों पर डाल कर मस्से को धूनी दें | बैंगन को जला लें | इसकी राख शहद में मिला कर मरहम बना लें | इसे मस्सों पर लगायें | मस्से सुख कर गिर जायेंगे |

हानि : किसी भी प्रकार के ज्वर के समय बैंगन न खायें | बैंगन गर्म होता है | अंत: बवासीर व् अनिद्रा के रोगी बैंगन (Eggplant) न खायें | बैंगन लम्बे समय तक सेवन न करें |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *