नमक (Salt) खाने के भी है अदभुत फायदे जानिए हिंदी में

होम्योपैथी आषधि नैट्रम म्यूरियोटिकम नमक से बनी है |

सैंधा नमक सबसे अच्छा नमक माना जाता है | यह सांभर, समुंद्री नमक से अच्छा होता है | नामक का प्रयोग कम से कम मात्रा में करना चाहिए | बहुत से लोग परम्परागत रूप से रोटी बिना नमक के खाते हैं | केवल सब्जी में ही नमक खाते हैं | नमक डालकर बनाई गई रोटी खाने से दाँतों में रोटी के कण चिपक जाते हैं जो दाँतों की जड़ को कमजोर करते हैं |

पसीने और पेशाब में दुर्गन्ध : यह अधिक नमक (Salt) खाने से आती है | नमक खाने से कोषाणु मरते हैं और जब मरे हुए कोषाणु पसीने के साथ छिद्रों से बाहर निकलते हैं तो तेज दुर्गन्ध आती है | अत : दुर्गन्ध से लिए नमक कम से कम खाना चाहिए |

तेज प्यास : नमक ग्रंथियों का रस सुखाता है और इसी कारण से प्यास अधिक लगती है | जिन्हें प्यास अधिक लगती है वे नमक (Salt) अलप मात्रा में खायें |

कब्ज़ : काला नमक (Black Salt), अजवाइन, छोटी हर्र और सौंठ समान मात्रा में मिला कर बारीक पीस लें | रात को खाने से एक घंटे बाद एक चम्मच गर्म पानी से फकी लें | कब्ज दूर हो जायेगा |

ग्रध्रसी (Sciatica) : 15 ग्राम भांग और एक चम्मच नमक लें और दोनों को एक किलो पानी में तेज उबालें | इसमें एक कपडा भिगो कर दर्द वाली टाँग के पीड़ित स्थान पर सेंक करें | एक प्रकार प्रतिदिन दो बार सेंक करें | लगभग 15 दिन में साइटिका का दर्द ठीक हो जायेगा |

अपच : पाचन शक्ति खराब हो, हल्के भोजन से भी दस्त लग जायें, कभी पेचिश, कभी कब्ज, शरीर दुर्बल होता जाए तो 5 ग्राम काला नमक गर्म पानी में घोल कर पिलाने से लाभ होता है | बच्चों को प्राय : एक दो माह में देना चाहिए |

खटाई खाने से दाँत आम गये हों तो नमक पीस कर दाँतों पर मलें | दाँत हिलता हो तो टिल के तेल में काला नमक बारीक पीस कर मिला कर मंजन करें |

पैरों में थकान, दर्द हो तो गर्म पानी में नमक मिलाकर 10 मिनट पैर घुटनों तक डुबो कर रख | पानी से पिण्डलियों तक मालिश करें |

गठिया : एक किलो गर्म पानी चार चम्मच नमक डाल कर सेंक करने से गठिया में लाभ होता है |

विषैले दंश : विषैली मक्खी, भिंड के डंक पर पानी डालकर नमक रगड़ें | इससे जलन दर्द नहीं होगा, सूजन भी नहीं आयेगी | नमक का पानी पीयें |

सिर दर्द : एक चुटकी नमक जीभ पर रखें, दस मिनट बाद एक गिलास ठंडा पानी पियें सिर दर्द ठीक हो जाएगा |
चौथाई कप जल में 3 ग्राम या तीन चने के बराबर नमक मिलाकर उस पानी को सूंघने से सिर दर्द में आराम होता है |

पायोरिया : पायोरिया दूर करने के लिए सेंधा नमक बारीक पीसकर कपड़े में से छान लें | फिर एक भाग नमक चार भाग सरसों के तेल में मिलाकर नित्य इससे ही मंजन करते रहने से पायरिया ठीक हो जाता है | यही नहीं दातों के अन्य सामान्य रोग जैसे दांतों में दर्द पानी लगना आदि भी ठीक हो जाता है | इसके साथ गाजर अधिक खाएं जा इसका रस पियें चीनी, चाय, काफी आदि का सेवन नहीं करें आपके दांत स्वस्थ रहेंगे |


,

2 thoughts on “नमक (Salt) खाने के भी है अदभुत फायदे जानिए हिंदी में

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *