आखों के रोगों के लिए घरेलू उपचार (Remedies in Eye Problems)

आखों के रोगों के लिए घरेलू उपचार

HOME REMEDIES IN EYE PROBLEMS

आँख की लाली में-

उपचार विधि – हल्दी को पानी में पत्थर पर घिसकर लगाने से आँख (eye) की लाली दूर हो जाती है |

आँख में जाला व् फूली-

उपचार विधि – नींबू का रस एक शीशी में भरकर उसमें एक गाँठ हल्दी दाल दें | 40 दिन बाद हल्दी को निकाल बारीक पीस लें और रोज आँख में सलाई की तिल्ली से लगायें | छाला, फूली सब ठीक हो जाएगी |

आँख की जलन –

उपचार विधि – 2 रत्ती केशर शहद में घोटकर आँख (eye) में लगाने से आँख की जलन ठीक होती है | आँख निर्मल व् स्वच्छ हो जाती है |

मालकांगनी का पटल यन्त्र से तेल निकालकर 1 से 5 बूंद तेल को मक्खन में मिलाकर चाटने से आँख की ज्योति अवश्य बढ़ती हैं ।

ताजा आवला का रस, निम्बू का रस भी नेत्र ज्योति बढ़ाने में सहायक सिद्ध होता हैं ।

दृष्टि क्षीणता –

उपचार विधि – शहद और प्याज का रस सोते समय आँखों में लगाने से आँखों को रोशनी बढती है तथा नेत्र विकार दूर हो जाते है |

मोतिया बिंद-

उपचार विधि – निर्मली को मधु  में घिसकर आँखों में लगाने से मोतियाबिंद ठीक हो जाता है |

आँख की ज्योति – 

उपचार विधि – अखरोट हरे जलाकर दो दाने काली मिर्च मिलाकर पीसकर बारीक सुरमे की तरह लगाने से आँख की ज्योति बढती है |

आँखों की बीमारी – 

उपचार विधि – आँखों में दर्द, लाली, खुजलाहट, जाला पड़ गया हो तो तथा मोतियाबिंद अभी प्रारंभिक अवस्था में हो तो रोजाना सुबह को ताजा गौमूत्र की 2-4 बूंद आँखों में डेढ़ महीने तक डालें | मोतियाबिंद बिना आपरेशन के ठीक हो जाता है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *