गुर्दे की पथरी में रामबाण इलाज है कुल्थी (Kulthi) की दाल जानिए

गुर्दे की पथरी में रामबाण इलाज है कुल्थी की दाल जानिए

लेटिन नाम : एटाइलोसिया स्केरेबिओईडिस (Atylosia scarabeoides)

गुर्दे की पथरी : कुल्थी (Kulthi) या कुलथा पंसारी की दूकान पर मिलती है | इसे साफ करके कंकड़ पत्थर निकाल कर 200 ग्राम कुल्थी तीन सेर पानी में रात को भिगो दें, प्रांत: उबालें | जब एक किलो पानी रह जाये तो उसे छान कर नमक, काली मिर्च, जीरा, हल्दी, शुद्ध घी से छोंक दे लें | अन्य कोई भी चीज स्वाद के अनुसार डाल सकते हैं | इसे एक बार रोजाना पीते रहें | इससे गुर्दे की पथरी, मूत्राशय की पथरी बिना आपरेशन बाहर आ जाती है | जब तक पथरी बहार न निकले, यह सेवन करते रहें | अधिक दिनों तक सेवन करने से कोई हानि नहीं है |

बात ज्वर (Rheumatic Fever) : 60 ग्राम कुल्थी (Kulthi) एक किलो पानी में उबालें | चौथाई पानी रहने पर छानकर उसमें थोडा सा सौंधा नमक और आधा चम्मच सौंठ पिसी हुई मिला कर पिलायें |

स्वेत प्रदर : 100 ग्राम कुल्थी एक लीटर पानी में उबाल कर छान कर इसका पानी पीने से स्वेत प्रदर में लाभ होता है |

मोटापा : 100 ग्राम कुल्थी की दाल नित्य खाने से मोटापा कम होता है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *