Lemon benefits – जानिए कियों करना चाहिए नीम्बू का सेवन

Lemon benefits – जानिए कियों करना चाहिए नीम्बू का सेवन

Lemon benefits –

नींबू (Lemon) का सेवन हर मौसम में किया जा सकता है | यह बदलते मौसम के अनुरूप ही अपने गुणों को समायोजित कर मौसमी दोषों से बचाता है | नींबू का मुख काम शरीर के विषों को नष्ट कर उन्हें बाहर निकलता है |

शक्तिवर्धक (Tonic) : उबलते हुए गिलास पानी में एक नींबू (Neembu) निचोड़ कर पीते रहने से शरीर के अंग-अंग में नई शक्ति अनुभव होने लगती है | नेत्र-ज्योति तेज हो जाती है | मानसिक दुर्बलता, सिरदर्द, पट्ठों में झटके लगना बंद हो जाते हैं | अधिक काम से भी थकावट नहीं आती है | इसमें बिना शक्कर और नमक मिलाये छोटे-छोटे घूंटों में पीना चाहिए | चाहें तो शहद की दो चम्मच मिला सकते हैं | शक्कर और नमक का अधिक सेवन स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है | असाध्य रोगों में लम्बे समय तक उपवास रखने के बाद खाना नहीं दिया जाता, परन्तु पानी में नींबू का रस मिलाकर बार-बार पीते रहने से रोगी के दूषित पदार्थ निकल जाते हैं और उनके रोग दूर हो जाते हैं | इसके नियमित सेवन से स्फूर्ति रहती है | पथरी होने पर नींबू नहीं देना चाहिए |

विटामिन ‘सी’ : विभिन्न रोगों से बचने, स्वास्थ्य, और शक्ति प्राप्त करने के लिए नींबू का रस विटामिन ‘सी’ का भण्डार है | विटामिन ‘सी’ शरीर में घट जाते से स्कर्वी, एनीमिया, हड्डी के जोड़ो की पीड़ा, रक्तस्राव, दाँतों के रोग, पाइरिया, कूकुरखाँसी दमा आदि रोग हो जाते हैं | नींबू के सेवन से इसमें लाभ होते है तथा स्ल्फाड्रग्स के सेवन से उत्पन्न दोष भी दूर हो जाते हैं |

रक्त्क्षीणता (Anaemia) : जिनके शरीर में रक्त की कमी हो, शरीर दिन पर दिन गिरता जाय, उन्हें नींबू (Neembu) और टमाटर (Tomato) के रस का भोजन लाभ पहुँचाता है |

आयु बढ़ना : प्रो: स्क्मोल के अनुसार यदि थोड़ा-सा नींबू नित्य सेवन किया जाये तो आयु बढ़ती है | इसका अधिक सेवन हानिकारक है
|

पाचन संसथान के रोग : यदि आपके पाचन अंग कार्य नहीं करते, भोजन नहीं पचता, भोनन नहीं पचता, पेट में गैस के कारण ह्रदय पर बोझ अनुभव होता है, पेट फूल जाता है, रात को नींद नहीं आती, भोजन भली प्रकार नहीं पचता तो एक गिलास गर्म पानी में एक नींबू का रस मिलाकर बार-बार पीते रहने से पाचन-अंग और शरीर की धुलाई हो जाती है | रक्त और शरीर के समस्त विषैला पदार्थ मूत्र द्वारा निकल जाती हैं | कुछ ही दिनों में शरीर में नई स्फूर्ति और शक्ति अनुभव होने लगते हैं | अपच होने पर नींबू की फाँक पर नमक डालकर गर्म करके चूसने से खाना सरलता से पच जाता है |

Lemon benefits –

कबज : 

1  नींबू (Neembu) का रस एक गिलास गर्म पानी के साथ रात्रि में लेने से दस्त खुल कर आता है |

नींबू का रस और शक्कर प्रत्येक 12 ग्राम एक गिलास पानी में मिलाकर रात को पानी से कुछ ही दिनों में पुराना कब्ज दूर हो जाता है |

दस्त :
  1. दूध  में नींबू (Neembu) निचोड़ कर पीने से लाभ होता है | दस्त में मरोड़ हो, आँव आती हो तो नींबू का उपयोग करें | एक नींबू का रस एक कप पानी में मिलाकर पिलायें | इसी प्रकार एक दिन में पाँच बार दें | इससे दस्त बंद हो जाते है |
  2. एक बूंद नींबू का रस, एक चम्मच पानी जरा-सा नमक और शक्कर मिला कर पाँच बार नित्य पीने से दस्त बंद हो जाते हैं |
नाखून न बढ़ना :
  1. यदि आपके नाखून न बढ़ते हों तो गर्म पानी में नींबू निचोड़कर उसमें पाँच मिनट तक उँगलियाँ रखें, फिर तुरन्त ही हाथ ठण्डे पानी में रखें | इससे नाख़ून बढ़ने लगेंगे |
  2. नाखूनों पर नींबू का रस लगाने से वे बहुत मजबूत और सुन्दर रखते हैं | उँगलियाँ को धोकर उनकें अग्रभाग नींबू में रगड़ कर सुखा लें |

वायुगोला : 6 ग्राम नींबू का रस आधा गिलास गर्म पानी में मिलाकर पिलाने से आराम होता है |

पेचिश : 
  1. आधा गिलास ताजा पानी में आधा नींबू निचोड़कर दिन में 3 बार पीने से पेचिश में लाभ होता है | दूध में नींबू (Lemon) निचोड़ कर पीने से लाभ होता है |
  2. मिट्टी के बर्तन (शिकोरा) में 250 ग्राम दूध, स्वादानुनार शक्कर, आधा नींबू निचोड़कर मिला कर पीयें | इससे पेट में हलकी सी जलन होगी और खून के दस्त बन्द हो जायेंगे |
हिचकी :

नींबू का रस (Lemon juice), शहद, दोनों एक-एक चम्मच, स्वादानुसार काला नमक मिला कर पीने से हिचकी बंद हो जाती है |

दिल घबराना :

दिल घबराने, छाती में जलन होने पर ठण्डे पानी में नींबू निचोड़ कर पीने से लाभ होता है | पतले दुबले शरीर वाले इसमें शक्कर भी मिलायें |

,

Leave a Reply

Your email address will not be published.