Multiple Benefits Of Sugarcane In Herbal Life

लेटिन नाम – सैकेरम औफिसिरेम (Saccharum officinarum) इसे-ईख, साँठा भी कहते हैं |

निरोग : नित्य गन्ने (Sugarcane ) का रास पीने और घूमते रहने से स्वास्थ्य अच्छा रहता है |

कुकर खाँसी : कच्ची मूली का रस एक छटाँक (62 ग्राम) एक गिलास गन्ने के रस में मिलाकर दिन में दो बार पिलाने से लाभ होता है |

सुखी खाँसी : एक गिलास गन्ने का रस नित्य दो बार पीने से सुखी खाँसी में लाभ होता है | छाती की घबराहट जाती रहती है |

रक्तातिसार : एक कप गन्ने के रास में आधा कप अनार का रास मिलाकर सुबह-शाम पिलाने से रक्तातिसार मिटता है |

पथरी : ईख चूसते रहने से पथरी टुकड़े-टुकड़े होकर निकल जाती है | गन्ने का रस भी लाभदायक है |

मन्द ज्वर में गन्ने का रस एक गिलास नित्य दो बार पीना लाभदायक है |

रक्त विकार : खाने के बाद एक गिलास गन्ने का रास पीने से रक्त साफ़ होता है | गन्ना नेत्रों के लिए हितकर है |

पित्त की उलटी : पित्त की उलटी होने पर एक गिलास गन्ने (Sugarcane) के रस में दो चमच्च शहद मिलाकर पिलाने से लाभ होता है |

हिचकी गन्ने का रास पीने से बंद हो जाती है |

पीलिया : जौ का सत्तू खाकर उप्पर से गन्ने का रास पीयें | एक सप्ताह में पीलिया ठीक हो जायेगा | ईख (Sugarcane) प्रांत: चूसें |

शक्तिवर्धक : ईख भोजन पचाता है, कब्ज दूर करता है, कब्ज़ दूर करता है, शक्तिदाना है | शरीर मोटा करता है | पेट की गर्मी, हृदय की जलन को दूर करता है |

,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *