Peppermint Benefits For Skin, Stomach, Gastric In Hindi

Peppermint Benefits For Skin, Stomach, Gastric In Hindi

प्रकृति : गर्म और खुश्क

चेहरे का सौन्दर्य : हरे पोदीने (Peppermint) की चटनी पीस कर चेहरे पर सोते समय लेप करें | इससे चेहरे के मुहाँसे, फुंसियाँ मिट जाएँगी | चेहरे खिल उठेगा |

पेट-दर्द : सुखा पुदीना (Dry Peppermint) और चीनी समान मात्रा में मिलाकर दो चम्मच की फंकी लेने से ठीक हो जाता है |

जुकाम, खाँसी, कुछ बुखार रहने पर पुदीना, पांच कालीमिर्च, स्वादनुसार नमक डालकर चाय की तरह उबाल कर तीन बार नित्य पीयें | लाभ होगा |

जुकाम, खाँसी, दमा कफ, मंदाग्नि होने पर चौथाई कप पोदीने का रस इतने ही पानी में मिला कर नित्य तीन बार पीने से लाभ होते है |

उलटी, दस्त, हैजा हो तो आधा कप पोदीने का रस हर दो घंटे से पिलायें |

त्वचा की गर्मी : हरा पोदीने पीसकर चेहरे पर बीस मिनट तक लगा दें | यह त्वचा की गर्मी निकाल देता है |

गैस : प्रांत:काल एक गिलास जल में 25 ग्राम पोदीने का रस, 31 ग्राम शहद मिलाकर पीने से गैस की बीमारी में विशेष लाभ होता है |

60 ग्राम पोदीना, एक गिलास पानी, 10 ग्राम अदरक और आठ ग्राम अजवाइन सब को उबालें | उबलने पर इसमें आधा कप दूध और स्वादनुसार गुड मिला कर पीयें | इससे गैस दूर होगी, पाचन शक्ति बढ़ेगी |

चौथाई कप पोदीने का रस, आधा कप पानी में आधा नींबू निचोड़ कर सात बार उलट-पुलट कर पीने से गैस से हो रहा पेट दर्द तत्काल ठीक होता है |

आंत्र-कृमि में पोदीने का रस दें | बिच्छू काटने पर पोदीने का लेप करें एव पानी में पीस कर पिलायें | पेट-दर्द और अरुचि में 3 ग्राम पोदीने में जीरा, हींग, कालीमिर्च, कुछ नमक डाल कर गर्म करके पीने से लाभ होता है | वमन में पोदीना नींबू के साथ दें | हैजे में पोदीना, प्याज और नींबू का रस मिलाकर बराबर देने सी लाभ होता है |

हिचकी : हिचकी बंद न हो रही हों तो पोदीने के पत्ते या नींबू चूसें | पोदीने के पत्तों के साथ शक्कर डालकर भी चबा सकते हैं |

पित्ती : दस ग्राम पोदीने, बीस ग्राम गुड़, दो सौ ग्राम पानी में उबाल कर छान कर पिलाने से बार-बार उछलने वाली पित्ती ठीक हो जाती है |

रक्त जमना : चोट आदि लग जाने से जमा रक्त पोदीने का अर्क पीने से पिघल जाता है |

,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *