नमक (Salt) खाने के भी है अदभुत फायदे जानिए हिंदी में Part-1

आधे सिर में दर्द हो तो आधा चम्मच नमक (Salt) आधा चम्मच शहद में मिलाकर चटायें, आशातीत लाभ होगा |

बंद मासिक धर्म : ठंडी हवा पानी में काम करने से मासिक धर्म नहीं आ रहा हो तो दो 2-2 ग्राम नमक (Salt) गर्म पानी से दिन में तीन बार लें मासिक धर्म आने लगता है |

मलेरिया : किसी भी प्रकार का मलेरिया हो नमक से ठीक हो जाता है | नित्य काम में दिए जाने वाला नमक (Salt) तवे पर अच्छी तरह इतना सेंके कि वह भूरे रंग का हो जाए | यह बच्चे के लिए आधा चम्मच और बड़ों के लिए एक चम्मच एक गिलास पानी में घोल कर गर्म करके गर्म-गर्म पानी मलेरिया बुखार आने से पहले भूखे पेट पिलादें | इससे बुखार नहीं चढ़ेगा और यदि चढ़ा तो हल्का | पुन: दूसरे दिन इसी प्रकार सेवन करें |  दो या तीन बार करने से मलेरिया ठीक हो जाएगा |

सेंधा नमक 1 भाग,  देसी चीनी (बुरा) 4 भाग, दोनों मिलाकर बारीक पीस लें | आधा चम्मच नित्य तीन बार यहां दी गई विधि से लेकर 2 रोगों में लाभ होता है –

गर्म पानी से देने से मलेरिया,  मौसमी ज्वर वायुगोला, गैस ठीक होते हैं |  खाना खाने के 10 मिनट बाद लेने से अपच, भूख की कमी दूर हो जाती है |  100 ग्राम पानी में लेने से दमा, गर्म दूध से देने से जुकाम ठीक होता है |

पेट-दर्द हो तो गर्म पानी में नमक (Salt) मिलाकर पीयें |  इससे शरीर में व्याप्त अनावश्यक तत्व भी निकल जाते हैं |

दाद पर हर घंटे बाद नमक (Salt) को पानी में गोद कर लेप करें | 1 सप्ताह में दाद ठीक हो जाएगा |

जुखाम : सेंधा नमक (Rock Salt), काली मिर्च (Black pepper), हल्दी हर एक 6 ग्राम पीसकर एक गिलास पानी में उबालें |  आधा पानी रहने पर गरम गरम पीयें |

दस्त:  सेंधा नमक, पीपल, छोटी हरड़, (Chubelic Myrobalan)  तीनों समान मात्रा में पीस लें | इसको आधा चम्मच ठंडे पानी से नित्य दो बार भोजन के बाद देने से अपच के  दस्त बंद हो जाते हैं |

आन्त्र ज्वर (Typhoid) : में एक चम्मच एक गिलास पानी बड़ों के लिए मैं गोल घर एक बार नित्य 3 दिन पिलाएं यदि तेज प्यास लगने लगे तो ना पिलाए |  जीभ पर रखने के लिए घूंट घूंट पानी पिलाएं | अधिक पानी ना पिलायें | इससे ज्वर सामान्य हो जाता है तथा आंत्र ज्वर अपनी अवधि से पहले ही ठीक हो जाता है |  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *