Spices Benefits and Side Effects – मसालों के गुण और औगुण

Spices Benefits and Side Effects –

मसलों के साथ ही दाल-सब्जी और खाने वाले पदार्थ स्वादिष्ट बनते हैं | ये केवल स्वाद के लिए ही नहीं बल्कि इनके अपने गुणों के कारण भी प्रयोग किये जाते हैं | 

इनके गुण और औगुन इस प्रकार हैं –

नमक – खून साफ़ रखता है, तरेह बढ़ाता है और भोजन को स्वादिष्ट बनाता है | इसका प्रयोग जीवन में आवश्यक है | 

हल्दी – इसकी तासीर गरम होती है, स्वाद कड़वा होता है और रंग पीला होता है | ये पाचन के लिए अच्छी है, रंग साफ़ करती है, हड्डियों को मजबूत करती है | फोडे फिंनसियों और चमड़ी के रोगों में लाभकारी है | पेट के कीड़े और वायु रोगों को नष्ट करती है | दाल सब्जी को गलाती है और स्वादिष्ट  बनती है |

लाल मिर्च – गरम तीखा और कड़वा स्वाद | भूख को बढ़ाती है और इसका जयदा प्रयोग आँखों के लिए हानिकारक है और पेट में अल्सर हो सकता है | खून को बिगाड़ती है और भोजन को तीखा बनाती है और इसका प्रयोग नमकीन भोजन में किया जाता है | 

काली मिर्च – तासीर गर्म, स्वाद तीखा, कड़वा तथा करारा होता है | भोजन को स्वादिष्ट बनाती और भूख बढ़ाती है | गले को साफ़ रखती है | खाँसी-बलगम और वायु के रोगों में बहुत लाभदायक है |

Spices Benefits and Side Effects –

जीरा – इसकी तासीर ठंडी होती है | ये स्वादिस्ट और खुशबूदार होता है | पेट को साफ़ रखता है | गर्भवती इस्त्रियों के लिए गुणकारी होता है | भूख बढ़ाता है | ये दो प्रकार का होता है काला और सफेद दोनों के गुण एक समान होते हैं |

धनिया – इसकी तासीर ठंडी होती है | भूख बढ़ाता है | खांसी, दमा और साँस के रोगों के लिए गुणकारी है | ये खाने को स्वादिष्ट और खुशबूदार बनाता है | हरा धनिया पाचन शक्ति को बढ़ाता है |

सौंफ – तासीर ठंडी, स्वादिष्ट, हलकी और हाजमेदार होती है | पित्त और खून के रोगों को दूर करती है , वायु, कफ, ताप, सूजन और संग्रहणी के रोगों के लिए बहुत ही गुणकारी | बदहजमी को दूर करती है, मुँह को खुशबूदार रखती है | 

दालचीनी – स्वादिष्ट होती है, तीखी और तासीर में गरम होती है | वायु के रोग को दूर करती है ताकत देती है | पेशाब को खोलती है | सर दर्द में भी लाभकारी होती है | 

छोटी-इलाइची – तासीर ठंडी, खुशबूदार और वाई, खांसी, दमा के रोगों में लाभकारी है | मुँह की दुर्गन्ध को दूर करती है | 

मोटी इलाइची – इसकी तासीर गरम होती है | खुशबूदार है कफ और पित को दूर करती है | खून की खराबी, सर-दर्द , दिल मचलाना में लाभदायक है | 

लौंग – तासीर गर्म, खुसबूदार स्वादिष्ट और हाजमदार है | भूख को बढ़ाता है | खांसी, कफ, हिचकी, सूल और ठण्ड के लिए बहुत गुणकारी है | 

सूंड – तासीर गर्म, स्वाद कड़वा और तीखा | भूख बढाती है | वायु, खाँसी, कफ और ठंड में लाभकारी है | पेट के कीड़े नष्ट करती है | 

तेज-पता – तासीर गरम, हाजमदार, स्वादिष्ट और ताकत देने वाला है | खास कर दिल के लिए बहुत ही लाभकारी है | 

अजवायन – गरम और करारी होती है | हाजमदार होती है | वायु, कफ और पेट के रोगों में गुणकारी होती है | 

प्याज – यह बहुत ही गुणकारी है | दाल-सब्जी के स्वाद को बढ़ाता है | गर्मियों में लू से बचाता है और बरसात में हैजे में बहुत लाभकारी है | 

,

Leave a Reply

Your email address will not be published.